बड़ी खबरेंबिज़नेसभरतपुर

भरतपुर के किसान को कम लागत में ज्यादा मुनाफा दिला रही है गन्ना की फसल. सालाना कमाई 10 -15 लाख़ रुपए

भरतपुर के किसान को कम लागत में ज्यादा मुनाफा दिला रही है गन्ना की फसल. सालाना कमाई 10 -15 लाख़ रुपए

भरतपुर : देश में नई तकनीक के साथ किसानों द्वारा परंपरागत खेती के साथ अब बागवानी व नगदी फसलें उगाई जा रही है.इस प्रकार की फसलों से किसान को कम लागत में ज्यादा मुनाफा हो रहा है.जिससे किसान की आर्थिक स्थिति मजबूत होने के साथ सफल कहानी लिख रहा है. एक ऐसा ही किसान है राजस्थान के भरतपुर जिले के गांव कंजोली निवासी राजवीर सिंह.जो उत्तर प्रदेश के किसानों से सीख लेकर करीब तीन -चार साल पहले एक हैक्टेयर भूमि में गन्ना की खेती शुरू की.गर्मियों के मौसम में इसकी मांग अधिक होने के चलते भाव भी अच्छा मिल रहा है.वही किसान का कहना है कि परंपरागत खेती की बजाय प्रति वर्ष इस खेती से सालाना लाखों रुपए की आमदनी हो रही है. इस गन्ना में पोषक तत्वों का खजाना होने के साथ साथ कही बीमारियो में फायदे मंद भी है.

प्रतिवर्ष इस खेती से 10 – 15 लाख रुपए तक की कमाई..

किसान राजवीर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि तीन साल पहले वह पारंपरिक खेती करके जीवन यापन कर रहा था.लेकिन इसी बीच उत्तर प्रदेश के किसानों को गन्ना की खेती से सालाना अच्छी कमाई देख मैने भी एक हैक्टेयर भूमि में गन्ना की खेती शुरू कर दी.यह खेती 10 से 12 माह में तैयार होने के साथ ही तीन साल तक चलती है.गर्मियों के मौसम में गन्ना की मांग अधिक होती है. यही वजह है कि अच्छा भाव मिलने से प्रतिवर्ष एक एकड़ में 4 से 5 लाख रुपए की कमाई हो जाती है. मेरी प्रतिवर्ष इस खेती से 10 – 15 लाख रुपए तक की आमदनी है.

गन्ना के सेवन से यह है स्वास्थ्य फायदे

गन्ने का रस बहुत ही सेहतमंद और गुणकारी पेय है. इसमें कैल्शियम, पोटैशियम, आयरन, मैग्नेशियम और फॉस्फोरस जैसे आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते हैं. इनसे हड्डि‍यां मजबूत बनती हैं और दांतों की समस्या भी कम होती है. गन्ने के रस के ये पोषक तत्व शरीर में खून के बहाव को भी सही रखते हैं.वहीं इस रस में कैंसर व मधुमेह जैसी जानलेवा बीमारियों से लड़ने की ताकत भी होती है.