एजुकेशनप्रदेशबड़ी खबरेंभरतपुर

Bharatpur News – बृज विश्वविद्यालय 253 नए पाठ्यक्रमों के माध्यम से देगा रोजगार परक शिक्षा

Bharatpur News – बृज विश्वविद्यालय 253 नए पाठ्यक्रमों के माध्यम से देगा रोजगार परक शिक्षा

भरतपुर– महाराजा सूरजमल ब्रज विश्वविद्यालय नए सत्र से विद्यार्थियों को रोजगारपरक शिक्षा देगा। इसके लिए 253 नए पाठ्यक्रम शुरू करने जा रहा है। प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू कर दी है। विश्वविद्यालय में टीचिंग और नॉन टीचिंग के करीब 1337 पदों पर भर्ती की जाएगी.नए सत्र से न केवल नए पाठ्यक्रम शुरू हो जाएंगे बल्कि विवि विस्तार के साथ और भी कई महत्वपूर्ण कार्य किए जाएंगे.विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रमेश चंद्रा ने शनिवार को पत्रकारों से वार्ता में बताया कि नए सत्र के लिए 253 नए पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। आवेदन की अंतिम तिथि 31 जुलाई रखी गई है। नए पाठ्यक्रमों में रोजगारपरक शिक्षा का ध्यान रखा गया है। कई पाठ्यक्रम ऐसे हैं जो सिर्फ महाराजा सूरजमल बृज विश्वविद्यालय में ही होंगे। इसके अलावा तमाम विधि पाठ्यक्रम, स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम, पीएचडी पाठ्यक्रम भी शुरू किए जा रहे हैं। सभी पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। कुलपति ने बताया कि विवि में नए पाठ्यक्रमों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए टीचिंग और नॉन टीचिंग पदों पर भर्ती की जाएगी। इनमें करीब 1100 पदों पर शिक्षकों की भर्ती और करीब 237 नॉन टीचिंग पदों पर भर्ती की जाएगी। इसके लिए जरूरी कार्रवाई की जा रही हैं। पत्रकार वार्ता में डाॅ. प्रशांत कुमार, डाॅ. निरंजन सिंह, अमृत सिंह, डाॅ. रवि तोमर, डाॅ. नेहा आदि मौजूद रहे।

 यह होंगे पाठ्यक्रम…

बीएससी बायोकेमिस्ट्री

साइंस टेक्नोलॉजी एंड सोसायटी

न्यूट्रीशियन एंड हेल्थ एजुकेशन

एग्रोकेमिकल और कीट प्रबंधन के साथ एप्लाइड लाइफ साइंस

मेडिकल लेबोरेट्री टेक्निक

एनालिटिकल केमिस्ट्री

फोरेंसिक साइंस

रिमोट सेंसिंग

कम्प्यूटिंग एंड अप्लाइड गणित

योगिक एंड न्यूट्रो पावर साइंस

 बीए पाठ्यक्रम :

पॉलिसी मेकिंग

मास कम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म

बीए इन क्रोमोनोलॉजी एंड क्रिमिनल जस्टिस

बुद्धिष्ट स्टडीज

 इटीग्रेटेड कोर्स :

बीए एलएलबी

बीकॉम एलएलबी

बीबीए एलएलबी

 विवि तक चलेंगी सिटी बसें..

 विश्वविद्यालय के उपकुलसचिव डॉ. अरुण कुमार पांडेय ने बताया कि विश्वविद्यालय परिसर के विस्तार के लिए अतिरिक्त जमीन की आवश्यकता है। इसके लिए 500 एकड़ जमीन का प्रस्ताव तैयार कर राज्य सरकार और राजभवन को भेजा गया है। इससे विश्वविद्यालय का विस्तार करने में सुविधा मिलेगी। वहीं विश्वविद्यालय परिसर भरतपुर संभाग मुख्यालय से करीब 18 से 20 किलोमीटर की दूरी पर है। विश्वविद्यालय प्रबंधन की तरफ से विद्यार्थियों की सुविधा के लिए बसों का संचालन किया जा रहा है। विवि की मांग पर जिला प्रशासन शहर के सारस चौराहे से विश्वविद्यालय तक सिटी बस संचालित करेगा। इसके लिए प्रशासन ने सहमति जता दी है।