भरतपुर

भरतपुर में होम्योपैथी की कॉलेज की प्राचार्य डॉ वत्सना कसाना ने क्वीन वर्ल्ड ऑफ इंडिया प्रतियोगिता में एलीट वर्ग में दूसरा स्थान प्राप्त किया।

भरतपुर में होम्योपैथी की कॉलेज की प्राचार्य डॉ वत्सना कसाना ने क्वीन वर्ल्ड ऑफ इंडिया प्रतियोगिता में एलीट वर्ग में दूसरा स्थान प्राप्त किया।

रिपोर्ट -ललितेश कुशवाहा

भरतपुर – होम्योपैथी की कॉलेज की प्राचार्य डॉ वत्सना कसाना ने क्वीन वर्ल्ड ऑफ इंडिया प्रतियोगिता में एलीट वर्ग में दूसरा स्थान प्राप्त किया। डॉ वत्सना कसाना चालीस प्लस कैटेगरी में उप विजेता रहीं। इसमें 65 प्रतियोगियों ने भाग लिया था। प्रतियोगिता दो चरणों में आयोजित हुई। पहला चरण जयपुर वहीं दूसरा चरण दिल्ली में आयोजित हुआ था। उपविजेता वत्सना कसाना अब यूएसए में आयोजित क्वीन वर्ल्ड प्रतियोगिता में भाग लेने जाएंगी। उल्लेखनीय है कि डॉ वत्सना कसाना 2019 में मिसेज एशिया पैसेफिक का पुरूस्कार जीत चुकी है। क्वीन वर्ल्ड ऑफ इंडिया प्रतियोगिता में कई राउण्ड हुए। जिसमें टेलेण्ट राउण्ड में डॉ वत्सना कसाना ने सवालो का जवाब तर्कपूर्ण और तत्काल दिया। उन्होंने अभिव्यक्ति, आत्मनिर्भरता सहिष्णुता व आत्मबल पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि अंदरूनी सुंदरता को पहचानना ज्यादा जरूरी है। सम्पूर्ण व्यक्तित्व इन सब गुणों से ही बनता है जो कि ऐसे कॉन्टेस्ट में महत्वपूर्ण होना चाहिए। उन्होंने प्रतियोगिता में स्वयं द्वारा डिजायन कॉस्टयूम पहना। बाल रोग विशेषज्ञ डॉ महेन्द्र सिंह की पुत्रवधू डॉ वत्सना कसाना ने पूर्व में भी मिस जयपुर 2005, मिसेज राजस्थान 2018 व मिसेज इंडिया ग्लैमरस दीवा 2018 जीता है। उनके पति डॉ दीपक सिंह मेडिकल कॉलेज भरतपुर में प्रोफेसर के पद पर कार्यरत है। डॉ वत्सना कसाना तमाम व्यस्तताओं के बीच सामाजिक कामों से जुडी रहती है। वह एक एनजीओ से भी जुडी हुई है जो गरीब बच्चों की पढाई के लिए संसाधन उपलब्ध कराने का काम करती है। डॉ वत्सना कसाना अपनी सफलता के लिए अपने परिवार के सदस्यों को श्रेय देती है। उनका कहना है कि उनका परिवार उनके साथ हर समय खडा रहता है।